वरुण और सारा ये तुमने क्या किया?

कहानी में मिर्ची (एक्टिंग) डालना ही भूल गए


coolie no.1
pic source google

जब सोशल मीडिया पर देखो तो ऐसा लगता है कि भारत में लेखक भरे पड़े हैं...लेकिन ना जाने क्यों आजकल के फिल्म डारेक्टर और प्रोड्यूसर को ये लेखक दिखते ही नहीं...मतलब कहानी कि ऐसी तंगी कि पुरानी हिट फिल्मों को ही फ्लॉप करने पर तुले हुए हैं...हाल ही में amazon prime पर रिलीज हुई फिल्म कुली न. 1 देखी...है भगवान क्यों ही देखी...खैर बीमार थे और टाइम भी पास करना था तो देख ली...कसम से इतनी वाहियात फिल्म कि देखकर शरीर के अंदर का कोरोना भी बोलने लगा बस कर बहन इतना भी बुरा नहीं हूं मैं कि तू ऐसे परेशान करेगी मुझे...

पढ़ने के लिए क्लिक करें- पानी पीने के लिए मिली मौत की सजा

गोविंदा जी की कुली नं. 1 तो हम सबने देखी है...और अगर नहीं देखी है तो वही देखो नई वाली को रहने दो...

वरुण धवन ने सलमान खान जुड़वा 2 में जो सत्यानाश किया था उससे ज्यादा घटिया एक्टिंग उन्होंने इसमें की है...अब कारण ये भी हो सकता है कि शुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से वैसे भी सारी फिल्में फ्लॉप ही हो रही थी तो उन्हें लगा कि एक्टिंग करूं या ना करूं फ्लॉप तो ये होनी ही है....और भाईसाहब सारा अली खान की तो पूछो ही मत करिश्मा कपूर ने उन्हें पानी पी पीकर गरियाया होगा...मतलब फिल्म लव-आज-कल 2 से भी घटिया एक्टिंग उन्होंने इस फिल्म में की है...मलतब इस बार का golden banana तो इन्हें ही मिलेगा अगर अर्जुन कपूर की कोई मूवी ना आई तो....फिल्म की कहानी सेम हे...डायलॉग सेम हैं यहां तक कि गाने भी सेम हैं...लेकिन रुको जरा सब्र रखो...पुराने गानों की भी इन्होंने ऐसी की तैसी कर के रख दी...तुझको मिर्ची लगी तो मैं क्या करूं गाने में से मिर्ची गायब कर उसमें गोबर भर दिया...गाने को सुनकर ही चप्पल निकालकर मारने का मन कहेगा...फिल्म को क्यों बनाया गया पता नहीं लेकिन एक बात जरूर कहूंगी कि नहीं बनानी थी...और बनाई भी थी तो कास्टिंग तो ढंग से करते...कॉमेडी के लिए ऐसे कलाकार ले लिए जिनकी जिंदगी खुद कॉमेडी बनी पड़ी है...हिंदू को क्रिश्चन बनाया गया क्योंकि इसे क्रिसमस पर जो रिलीज करना था...परेश रावल जिन्होंने हेरा-फेरी और फिर हेरा फेरी जैसी मूवी में हमें हंसा-हंसा कर पागल कर दिया...इस फिल्म में उनके डायलॉग तक नहीं समझ में आ रहे... 

पढ़ने के लिए क्लिक करें- पूड़ी खाने का लालच

वहीं वरुण जी हमारे ट्रेन से भी तेज निकले...मतलब सुपरमेन भी ये सीन देखकर दो बार मरा होगा... वहीं राजपाल यादव के सीन बहुत ही कम थे, उन्हें तोतला बना दिया गया...अगर ना बनाया जाता तो शायद वो ज्यादा हंसा पाते... अब खत्म करती हूं और वरुण धवन और सारा अली से भी बकवास एक्टिंग खत्म करने को कहूंगी...

भला हो ये मूवी हॉल में देखने नहीं गई नहीं तो मुझे अपनी चप्पलें गंवानी पड़ जाती...अब भाई इतनी बकवास फिल्म देखने के पैसे खर्च होते तो स्क्रीन पर चप्पल फेंक के मारना तो बनता ही था।

अंत में इतना ही कहूंगी कि फ्री की मूवी है तो निपटा लो फिल्म देखकर खून इतना ज्यादा खौल उठेगा कि अगले एक महीने तक गर्म पानी और काढ़े की जरूरत नहीं पड़ेगी।

0 Comments